About Us

Write-Up

न्यू आहंगर एजुकेशन कमेटी 1977 से शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत अग्रणी संस्थाओं में से एक है | वर्तमान में संस्था द्वारा प्राइमरी , सीनियर सेकेंडरी स्कूल एवं गर्ल्स कॉलेज संचालित किया जा रहा है |  जिस क्षेत्र में कमेटी के स्कूल व कॉलेज चल रहे है वह अत्यंत ग़रीब , पिछड़ा अल्पसंखयक बहुल क्षेत्र है | संस्था का मुख्य उद्देश्य समाज में शिक्षा का महत्त्व व महिला शिक्षा को बढ़ावा देना है | संस्था  में किसी जात विशेष , धर्म या पंथ के विद्यार्थियों को ही प्रवेश नहीं दिया जाता है वरन समस्त लोगो के लिए ससंथान के दवार खुले हुए है |

1-   कमैटी दवारा सना 1977-78 में प्राइमरी विधालय की शुरुआत के समय मात्र 211 विद्यार्थी अध्ययनरत |

2-  विधालय को 1989 में उच्च प्राथमिक स्तर की मानयता मिली |

3-   सन 1992-93 में सेकंडरी स्तर की मानयता मिली |

4-  सन 1998-99 में उच्च माध्यमिक स्तर की मानयता प्राप्त हुई |

5-   सन 2004-05 में अहंगरान गर्ल्स कॉलेज शुरू किया गया |

 

वर्तमान में संस्था में विद्यार्थियों की संख्या :-

Total Strength ( Session 2018-2019)

S.No.

Section

Girls

% of Girls

Boys

% of Boys

Total

1.

Primary

523

52.93%

465

47.07%

988

2.

Senior Secondary

790

66.16%

404

33.84%

1194

3.

College

282

100%

-

-

  282

 

 

1595

64.73%

869

35.27%

2464

 

विधार्थियो के सर्वगीण विकास हेतु अन्य शैक्षणिक एवं पाठ्येतर गतिविधियाँ संचालित की जाती है , जिनमे सप्ताह के अंत में निबंध प्रतियोगिता वाद विवाद ,प्रशन्नोत्तरी एवं सुलेख लेख की पार्टियोगिताये आयोजित की जाती है गर्मियों की छुट्टियों में समर कोर्सेस चलाये जाते है जिससे छात्राओं में शैक्षणिक योगयता के साथ साथ अन्य अभिरूचियोंक का पर्शिक्षण प्राप्त हो सके, सिलाई ,कढ़ाई ,बुनाई,पेंटिंग , इंग्लिश,स्पीकिंग कम्प्यूटर कोर्स जाते हे|

    विधालय के बोर्ड कक्षाओं के परीक्षा परिणाम 90% से 100% तक रहते है एवं आंतरिक परीक्षा परिणाम भी 90% से 100% तक आते हे संस्था द्वारा बोर्ड कक्षाओं हेतु फ्री कोचिंग भी चलाई जाते हे इसमें विधालय के छात्र छात्राओं के अतिरिक्त अन्य व् निजी विद्दालय के विधार्थी लाभन्वित होते हे|

इन का सम्पूर्ण खर्च वक्फ कमिटी मुस्लिम मुसाफिर खाना द्वारा वहन किया जाता हे | प्राय यह देखा जाता था छात्र कक्षा 12 के बाद उच्च शिक्षा हेतु कॉलेज दूर होने के कारण व अन्य सामाजिक कारणों से प्रवेश नहीं ले पाती थी इस समस्या के निदान के लिए एवं महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सन 2004-05 में अहंगरान गर्ल्स कॉलेज शुरू किया गया |

कालेज का  परीक्षा परिणाम 90% से 100% तक रहते है |

:-शुल्क मुक्ति :- संस्था में लगभग 15% से 20% आर्थिक दर्ष्टि से पिछड़े विधार्थी को शुल्क मुक्ति का लाभ दिया जाता है |

:-स्कॉलरशिप :- संस्था में अच्छी पोजीशन लाने वाले विधार्थीओ को व् तकनिकी शिक्षा प्राप्त करने वाले बिरादरी के बच्चो को कमिटी की तरफ से स्कॉलरशिप की भी व्यवस्था की जाती है |

"-वित्तीय स्रोत :- संस्था किसी भी सरकारी या अर्ध सरकारी एजेंसी से किसी तरह की सहयता नहीं लेती केवल जन सहयोग से ही संस्था ने यहाँ तक उन्नति की है |

संस्था विशेषकर बालिकाओं के लिय से L.K.G. to  M.A. तक की शिक्षा प्रदान करवाकर महिला शिक्षा को बढ़ावा देने में सराहनीय भूमिका अदा कर रही हे | B.A  राजस्थान यूनिवर्सिटी  जयपुर से रेगुलर बेसिस पर और M.A. मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी  हेदराबाद डिस्टेंस एजुकेशन से  |

 

Future Projects

 वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए संस्था ने तकनीकी व व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने का निर्णेय लिया है जिससे कि छात्र छात्राए तकनिकी,व्यावसायिक एवं रोजगारोंउन्मुखी शिक्षा प्राप्त कर आत्मनिर्भर बने |

उद्देश्य की पूर्ति हेतु कमिटी दवारा B.Ed. व STC कालेज I.T.I. इन्स्टिट्यूट विभिन्न कम्पुटर कोर्सेस एवं रोजगारोंउन्मुखी पाठ्यकर्म शुरू करने की योजना है जिससे अधिक से अधिक विद्यार्थी लाभान्वित हो सके |